Top
Sirpur Archives -
fade
841
archive,tag,tag-sirpur,tag-841,mkd-core-1.3,mkdf-social-login-1.4,mkdf-tours-1.4.3,voyage-ver-2.1,mkdf-smooth-scroll,mkdf-smooth-page-transitions,mkdf-ajax,mkdf-grid-1300,mkdf-blog-installed,mkdf-breadcrumbs-area-enabled,mkdf-header-standard,mkdf-sticky-header-on-scroll-up,mkdf-default-mobile-header,mkdf-sticky-up-mobile-header,mkdf-menu-item-first-level-bg-color,mkdf-dropdown-animate-height,mkdf-header-style-on-scroll,mkdf-medium-title-text,wpb-js-composer js-comp-ver-6.8.0,vc_responsive
Sirpurw
26 Sep

“ट्रैवल फॉर लाइफ” के साथ सिरपुर स्मारक समूह पर मनाया जायेगा विश्व पर्यटन दिवस 2023

पर्यटन के महत्व और इसके सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक मूल्यों के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रत्येक वर्ष 27 सितंबर 2023 को विश्व पर्यटन दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष भी विश्व पर्यटन दिवस के लिए संयुक्त राष्ट्र विश्व व्यापार संगठन (यूएनडब्ल्यूटीओ) द्वारा दी गई थीम "पर्यटन और हरित निवेश" के साथ संपूर्ण विश्व में मनाया जायेगा।पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार ने पर्यटन क्षेत्र को समर्पित "ट्रैवल फॉर लाइफ" शुरू करने की योजना बनाई है, इसे 27 सितंबर, 2023 को लॉन्च किया जाना है। यह पहल माननीय...

Sirpur
8 Sep

सिरपुर के तट पर ही ऐतिहासिक वैभव और संस्कृति का पूरा संसार, जल्द बनेगा वर्ल्ड हेरिटेज

पुरातात्विक स्मारकों, समृद्ध परम्परा, सांस्कृतिक विरासत से समृद्ध सिरपुर को वर्ल्ड हेरिटेज की ओर मान्यता दिलाने आयोजित तीन दिवसीय विश्व संगीति कार्यक्रम का शुभारम्भ 7 सितम्बर को वन, आवास एवं पर्यावरण मंत्री मोहम्मद अकबर ने किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता नागार्जुन फाउंडेशन सिरपुर के अध्यक्ष पूज्य भदन्त आर्य नागार्जुन सुरेई ससाई एवं कल्चरल सेंटर ऑफ एच. एच. दलाई लामा तिब्बत हाउस के डायरेक्टर गेशे दोरजी दामदुल ने किया।सी एस आई डी के अध्यक्ष नंदकुमार साय , पुरातत्वविद, नागपुर महाराष्ट्र लेखक डॉ. सत्यजीत चन्द्रिकापुरे, ट्रेव्हल एंड टूरिज्म विभाग महाराष्ट्र डायरेक्टर डॉ. प्रियदर्शी...

Draupadi Murmu
2 Sep

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु छत्तीसगढ़ के पुरातात्विक वैभव से हुईं रू-ब-रू

भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने अपने दो दिवसीय छत्तीसगढ़ प्रवास के पहले दिन रायपुर में महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय का अवलोकन किया। वे इस दौरान छत्तीसगढ़ की पुरातात्विक वैभव से रू-ब-रू हुईं। राष्ट्रपति ने इस बहुआयामी संग्रहालय में छत्तीसगढ़ और अन्य क्षेत्रों से प्राप्त प्राचीन मूर्तियों, अभिलेखों और ताम्रपत्रों के बारे में विस्तार से जाना। वे यहां की प्राचीन मूर्त धरोहर, राम वन गमन पथ तथा शिवनाथ नदी के दोनों ओर बसे गढ़ों से भी रू-ब-रू हुईं। संग्रहालय के भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राष्ट्रपति को...

Sirpur2
27 Feb

गांधी परिवार ने किया छत्तीसगढ़ के ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक नगरी सिरपुर का भ्रमण…

गांधी परिवार ने किया छत्तीसगढ़ के ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक नगरी सिरपुर का भ्रमण… विश्व प्रसिद्ध है यहां का लक्ष्मण मंदिर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ सांसद राहुल गांधी, श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को महासमुंद जिले के ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक महत्व के स्थल सिरपुर का भ्रमण किया। सांसद श्री राहुल गांधी एवं श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा ने विश्व प्रसिद्ध लक्ष्मण देवालय मंदिर का दर्शन किया। उन्होंने सुरंग टीला और तिवरदेव बिहार का भी भ्रमण किया। सिरपुर महानदी के तट स्थित एक पुरातात्विक स्थल है। इस स्थान का प्राचीन नाम श्रीपुर है।...

sirpur1
28 Nov

सिरपुर-ईको टूरिज़्म कोडार को मिल रही पहचान, सैलानियों का बढ़ रहा रुझान

सिरपुर-ईको टूरिज़्म कोडार - महासमुंद जि़ले में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए प्रशासन काम कर रहा है। वही सरकार ने प्रदेश के अलग-अलग जिलों में प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में मोटल और रिसोर्ट और हॉटेल बनाए हैं। समय-समय पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। सिरपुर को राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय हेरिटेज के रूप में विकसित करने और ज्यादा पहचान दिलानें शासन-प्रशासन कटिबद्ध है। जो भी जरूरी कार्य है किए जा रहे है। लोकल टूरिज्म को बढ़ावा और स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मिल रहे...

Sirpur
12 Oct

सिरपुर – ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक महत्ता

अंतराष्ट्रीय पर्यटन मानचित्र पर सिरपुर अपनी ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक महत्ता के कारण आकर्षण का केंद्र हैं। यह पांचवी से आठवीं शताब्दी के मध्य दक्षिण कोसल की राजधानी थी। यह स्थल पवित्र महानदी के किनारे पर बसा हुआ हैं। सिरपुर में सांस्कृतिक एंव वास्तुकौशल की कला का अनुपम संग्रह हैं। पुरातन काल (सोमवंशी राजाओ का काल) में सिरपुर को `श्रीपुर` के नाम से जाना जाता था तथा यह दक्षिण कोसल की राजधानी थी भारतीय इतिहास में अपने धार्मिक मान्यताओ और वैज्ञानिक दृष्टिकोण के कारण आकर्षण का केन्द्र था। इस स्थान पर...