Top
Chhattisgarh -
fade
467
archive,category,category-chhattisgarh,category-467,mkd-core-1.3,mkdf-social-login-1.4,mkdf-tours-1.4.3,voyage-ver-2.1,mkdf-smooth-scroll,mkdf-smooth-page-transitions,mkdf-ajax,mkdf-grid-1300,mkdf-blog-installed,mkdf-breadcrumbs-area-enabled,mkdf-header-standard,mkdf-sticky-header-on-scroll-up,mkdf-default-mobile-header,mkdf-sticky-up-mobile-header,mkdf-menu-item-first-level-bg-color,mkdf-dropdown-animate-height,mkdf-header-style-on-scroll,mkdf-medium-title-text,wpb-js-composer js-comp-ver-6.8.0,vc_responsive
cg tourism
6 Apr

A Journey through Famous Tourist Places of Chhattisgarh

Nestled in the heart of India, Chhattisgarh beckons travelers with its vibrant culture, rich history, and breathtaking landscapes. From cascading waterfalls to ancient temples, this state is a treasure trove of diverse experiences waiting to be discovered. Let's embark on a journey through some of Chhattisgarh's most famous tourist places, each offering a unique glimpse into the soul of this enchanting land. Famous tourist places - Chitrakote Falls: The Jewel of Bastar Our first stop takes us to the majestic famous tourist places - Chitrakote Falls, often dubbed as the 'Niagara Falls...

rail restaurant
16 Mar

यह है छत्तीसगढ़ के पहला रेल रेस्टोरेंट, जहां खाने के साथ मिलेगा सफर का फील

अगर आप सफर के साथ खाना पीना एंजॉय करना चाहते हैं और आप बिलासपुर में हैं तो आपके लिये यह परफेक्ट प्लेस है। जहां आप कन्फ्यूज हो जाएंगे कि आप सफर में हैं या रेस्टोरेंट में हैं। जी हां इन दिनों बिलासपुर के लोग रेलवे स्टेशन की ओर रुख कर रहे हैं। जो भी यहां आ रहा है वो इस जगह की तारीफ जरूर कर रहा है। यहां का इंटीरियर और जगह सब कुछ एकदम यूनिक है। यह नया रेस्टोरेंट बिलासपुर रेलवे स्टेशन पर खुला है। जिसे ट्रेन के कोच...

Bilaspur
14 Mar

बिलासपुर से अब दिल्ली नहीं दूर सीधी हवाई सेवा की हुई शुरूआत

सीएम बोले-अब हवाई चप्पल पहने वाला भी करेगा सफर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने अपने निवास कार्यालय रायपुर से हरी झंडी दिखाकर बिलासा देवी केंवट विमानतल, बिलासपुर से बिलासपुर-दिल्ली और बिलासपुर-कोलकाता सीधी हवाई सेवा का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री अरुण साव सहित अनेक जनप्रतिनिधि बिलासा देवी केंवट विमानतल पर तथा मुख्यमंत्री निवास पर लोकसभा सांसद सुनील सोनी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने इस अवसर पर कहा कि हमारे प्रधानमंत्री का संकल्प है कि हवाई चप्पल पहनने वाले भी हवाई यात्रा कर सकें। इस उद्देश्य से...

indigo airlines
9 Mar

IndiGo to Start Flights from Jagdalpur in Chhattisgarh

IndiGo has recently announced that it will commence operations from its 87th domestic destination in Jagdalpur, Chhattisgarh, starting March 31. According to airline officials, the Hyderabad-Jagdalpur route will be the inaugural flight pair, with the Raipur-Jagdalpur route following suit on April 1. This new destination promises to be an enticing getaway for tourists, particularly during the upcoming summer vacations. Vinay Malhotra, Head of Global Sales at IndiGo, stated, “We are delighted to include Jagdalpur in the 6E network, providing our customers with the opportunity to explore the beauty of Chhattisgarh while enhancing...

Tiger in Mahasamund
9 Mar

छपोराडीह-सिरपुर मार्ग पर दिखा टाइगर

सिरपुर क्षेत्र हाथियों के विचरण क्षेत्र के रूप में मशहुर है। इस क्षेत्र में हाथियों की आमद होती रहती है। मगर इस बीच में महासमुंद क्षेत्र में टाइगर की चहल-पहल देखने मिली है। दरअसल गुरुवार शाम 5:45 के आसपास छपोराडिह सिरपुर मार्ग पर अचानक से राहगीरों को टाइगर दिखा। शिक्षक काशीराम पटेल ने जानकारी देते हुए बताया कि वे शाम 5:45 के आसपास बांसकुंडा से सिरपुर की तरफ कार से जा रहे थे। उन्होंने बताया कि उनके साथ ग्राम पंचायत बंदोरा के सचिव ओम प्रकाश पटेल भी सफर कर रहे थे।...

Ram Mandir
1 Mar

शिल्पकला का उत्कृष्ट नमूना है राजिम का सबसे प्राचीन श्री रामचंद्र मंदिर

राजिम में स्थित श्री रामचंद्र मंदिर का इतिहास काफी पुराना है। मंदिर में लगे शिलालेखों तथा पुरातत्व विभाग द्वारा लगे सूचना बोर्ड से ज्ञात होता है कि इस मंदिर का निर्माण कल्चुरि सामंतो द्वारा ग्यारहवीं शताब्दीं में किया गया था। इस मंदिर में भगवान गणेश जी की एक नृत्य करती हुई मूर्ति है जो पुरातत्ववेत्ता के अनुसार काफी पुरानी है जिसे पुरातत्व विभाग द्वारा विशेष संरक्षण प्राप्त है। मंदिर के गर्भगृह में पाषाण स्तंभो पर उकेरा गया शिल्प बहुत ही मनमोहक है जो कल्चुरि कालीन संस्कृति और सभ्यता दर्शाती है। मंदिर...

TNT Rajim
26 Feb

Rajim Kumbh Kalp 2024: Ganga Aarti & Ayodhya Dham Display

The Rajim Kumbh Kalp-2024 kicked off with grandeur as the Ganga Aarti illuminated the banks of the Prayag Rajim in Chhattisgarh, where the Mahanadi, Parry, and Sondhur rivers converge. The vibrant essence of Ayodhya Dham enriched the atmosphere, marking the beginning of the Rajim Kumbh Kalpa celebrations, themed as Ramotsav. Dignitaries including Ministers Brijmohan Aggarwal and Ramvichar Netam graced the occasion alongside notable figures like Tank Ram Verma and MLA Jai Chandrakar. Culture and Endowment Minister Agarwal lauded the significance of the event, emphasizing its role in promoting Chhattisgarh's heritage as...

shri-ram-lala
23 Feb

श्रीरामलला दर्शन योजना के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी

श्रीरामलला दर्शन योजना के क्रियान्वयन के लिए राज्य सरकार के पर्यटन विभाग ने कलेक्टरों को विस्तृत दिशा निर्देश जारी कर दिये हैं। इसके तहत आवेदन करने के लिए एक निर्धारित प्रारूप दिया गया है जिसमें फोटो के साथ ही निवास के साक्ष्य के लिए एक दस्तावेज प्रस्तुत करना होगा। श्रीरामलला दर्शन योजना अंतर्गत 65 वर्ष से अधिक आयु के ऐसे व्यक्ति, जिसने कि अकेले यात्रा करने हेतु आवेदन किया है, को अपने साथ एक सहायक को यात्रा पर ले जाने की पात्रता होगी। व्यक्तियों के समूह द्वारा आवेदन करने पर उक्त...

Trips N Trippers
23 Feb

Rajim Kumbh Kalp Mela: Spiritual Spectacle in Chhattisgarh”

The Rajim Kumbh Kalp Mela of 2024: A Journey Through Faith and Tradition - Nestled in the serene landscapes of the Gariaband district in Chhattisgarh, the holy city of Rajim holds a unique significance. While renowned for its archaeological treasures and ancient civilizations, Rajim shines brightly during its revered Kumbh Mela, drawing countless devotees and saints to its sacred waters. Reverently known as the "Prayag of Chhattisgarh," Rajim stands at the confluence of three rivers – Mahanadi, Parry, and Sondhur, earning it the revered title of Triveni Sangam. At this...

Rajim Kumbh
21 Feb

फिर से राजिम में गूंजेगा शंखों का नाद

छत्तीसगढ़ के प्रयाग माने जाने वाले राजिम में त्रिवेणी संगम पर राजिम कुंभ कल्प के भव्य आयोजन को लेकर तैयारियां जोर-शोर से शुरू हो चुकी हैं। मिली जानकारी के अनुसार राजिम कुंभ कल्प का शुभारंभ 24 फरवरी से शुरू होगा, जो आठ मार्च तक चलेगा। इसमें हरिद्वार, अयोध्या, काशी, मथुरा, चित्रकुट, मध्यप्रदेश समेत देश के विभिन्न स्थानों से साधु-संत, पीठाधीश्वर, मठाधीश, महात्मा, शंकराचार्य पहुंचेंगे। राजिम कुंभ में आने के लिए महामंडलेश्वर विशेकानंद महाराज, महामंडेलश्वर शिवस्वरूपा नंद महाराज, महंत ज्ञान स्वरूपानंद महाराज, सतपाल महाराज, हरिद्वार के डा चिन्मयानंद महाराज, बागेश्वर धाम के...